जनवरी से अगस्त के बीच 20 लाख लोगों ने खोई नौकरी, बेरोजगारों की संख्या में हर साल होगा 60 लाख का इजाफा: रिपोर्ट

0
1
लखनऊ :इस साल जनवरी से अगस्त महीने के दौरान करीब 20 लाख लोग बेरोजगार हुए हैं। इसमें से करीब 1.54 मिलियन लोगों की नौकरियां जनवरी से अप्रैल 2017 के दौरान छिनी हैं। जबकि 0.42 मिलियन लोगों को मई से अगस्त 2017 के दौरान अपना रोजगार खोना पड़ा है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) की ओर से हाल ही में जारी किए गए डेटा के जरिए यह जानकारी सामने आई है।

क्या कहते हैं आंकड़े: सालाना आधार पर साल 2017 में जनवरी से अप्रैल के दौरान 40 लाख लोगों को नौकरियां दी गई हैं। वहीं मई से अगस्त महीने के दौरान 20 लाख लोगों को रोजगार मिला है। सीएमआईई की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक नोटबंदी के कारण मजदूरों की भागेदारी में कमी आई है। नोटबंदी से पहले के 10 महीनों तक औसत श्रम भागीदारी दर 47 फीसद रही थी, जबकि नोटबंदी के बाद अगले 10 महीनों में यह दर 44 फीसद रही थी।

सीएमआईई के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी महेश व्यास ने एक पोस्ट में कहा, “साल 2016 के शुरूआती 8 महीनों में श्रम भागीदारी दर 47 फीसद रही थी और इस साल के आखिरी चार महीनों में जिसमें नोटबंदी की घोषणा भी हुई थी यह 46 फीसद पर आ गई।”

आपको बता दें कि 1 जुलाई 2017 से लागू हुए वस्तु एवं सेवा कर का तत्काल प्रभाव दिखाई दिया था हालांकि यह कम गंभीर रहा था। सीएमआईई के मुताबिक जुलाई 2017 के दौरान श्रम भागीदारी दर न्यूनतम स्तर के साथ 43 फीसद रही थी, लेकिन आगामी महीनों (अगस्त, सितंबर और अक्टूबर 2017) में इसमें इजाफा हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here